हमसफर

बुधवार, 20 अप्रैल 2016

फेसबुक के कोने से

10 नवंबर 2015 का पोस्ट

नरेंद्र मोदी की राजनीतिक सफलता ने उन्हें भले ही विकास के गुजराती मॉडल कीब्रांडिंग का मौका दिया, लेकिन बिहार में महागंठबंधन ने इसकी कलई खोल कर रखदी. लोस चुनाव में जिस विकास को उन्होंने चुनावी मुद्दा बनाया था, बिहार विसचुनाव में दूर-दूर तक वह नहीं दिखा. गो-मांस के नाम पर वितंडा, नीतीश के डीएनएका सवाल, आरएसएस द्वारा छेड़े गये आरक्षण का जिन्न और जंगलराज पार्ट टू ने मिलकर जैसे बिहार की जनता को झुंझला दिया-झल्ला दिया. नीतीश के सुशासन को अपनीआंखों से देखनेवाले बिहारी मतदाता ने महंगाई से भटकानेवाले असहिष्णुता केमुद्दे को कीमत नहीं दी. भले ही देश भर के बुद्धिजीवी मीडिया ट्यूनर नरेंद्रमोदी के बहकावे में आकर असहिष्णुता का राग अलापते रहे और पब्लिक की पॉकेटमारी(दाल, पेट्रोल, गैस,...) से आंख मूंदे रहे. इसलिए कि महंगाई उनकी सहिष्णुता कीहद में थी. लेकिन बिहार के लोगों ने पॉकेट में हाथ डालनेवाले के हाथ काटडालेंगे उन्हें भी नहीं पता था.: दरअसल ब्रांडिंग और इवेंट के भरमा दी गयी जनता की बदौलत दिल्ली की बादशाहतपाये नरेंद्र मोदी पर बहुत जल्द कामयाबी आवेग बन कर सवार हो गयी. बड़बोलापनउसी नशे से निकला है. यदि भाजपा क कैलाश विजयवर्गीय ने भाजपा के वरिष्ठ सांसदशत्रुघ्न सिन्हा की तुलना कुत्ते से की है तो आकस्मिक नहीं. हो सकता है यह हारसे उपजी खीझ हो, पर है तो उसी पार्टी के नेता का बयान जिसके दुलारे नायक मोदीने चुनाव से पूर्व डीएनए के दोष की बात की थी. साक्षी महाराज, भाजपा की सांसदसाध्वी निरंजन ज्योति उसी घराने के हैं. सफलता के इसी नशे की उपज मन की बातहै. जब जो जी में आये वह बोलेंगे. कितना भी जरूरी हो, जी नहीं तो जुबान नहीं खोलेेंगे

प्रतिक्रिया-
Shubham Singh unarguably, event management can't win u elections every time u go in battle field, though it did in loksabha bt tht too, there wz sheer dissatisfaction among mass due to UPA regime. ruling party at centre must understand, people have voted them in pow...See More
Pramod Pandey
Pramod Pandey Sirji zindagi main jisne thokar nahi khai usne zindagi nahi jee,Jo hua accha hua yahi sochte hain,
Nikhil Kumar Das
Nikhil Kumar Das Is election me Modi pravachan bhi dete aur muft me daal bhi dete tab bhi BJP ko itni hi seat milti kyunki bihar me vote aur beti apne hi jaat walon ko dete hain.

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें